Monday, December 22, 2008

भारतीय नेता कैसे देखते हैं ओबामा बनने का सपना

सुना है कि कुछ नेताओं को ओबामा बनने का शौक चढ़ा है। प्रश्न सीधा है, क्या ओबामा बनना आसान है? ओबामा क्लास, लेवल या खास तबके से अलग अमेरिकियों को एक सुंदर राष्ट्र देने का सपना दिखाते हैं। क्या हमारे नेता एक बेहतर राष्ट्र देने का सपना दिखाते हैं? कोई कहता है, हम आपके समाज का उद्घार करेंगे, तो कोई अपने राज्य का। लेकिन क्या कोई भारत यानी पूरे देश के उद्धार की बात करता है। सुनने में तो यहां तक आया है कि यहां के नेताओं के समथॆक अपने नेताओं को अमेरिकी राष्ट्रपति तक बनने का सपना देखने की बात करते हैं। एक कहावत है, बातें हैं बातों का क्या। गप की खेती करके कुलांचे भरने की नयी परंपरा शुरू हो गयी है। जिसका न कोई आधार है और न पैमाना। ओबामा बनने के लिए सपने दिखाने की शक्ति चाहिए। क्या आज के हमारे भारतीय नेता सपने दिखाने की हिम्मत रखते हैं। एक सपना, जहां सुखद और सुरक्षित जीवन हो। नहीं वे ऐसा नहीं कर सकते। क्योंकि वे आत्ममुग्धता के दायरे में बंधे हुए हैं। जब तक इससे बाहर निकलेंगे, काफी देर हो चुकी होगी। अब तो देखना ये है कि भविष्य में भारत को ओबामा जैसा नेता मिलता है या नहीं। ओबामा तो एक चमत्कार हैं। जो सदी में सिफॆ एक बार होता है। ओबामा राष्ट्रपति बनेंगे। वे एक नयी कहानी लिखने की तैयारी कर रहे हैं।

2 comments:

Gyan Dutt Pandey said...

आप कोई दूसरा बनेंगे तो दोयम दर्जे के ही बनेंगे न! बेहतर है कि स्वयँ रहे-बने, फर्स्टक्लास।

dhiru singh {धीरू सिंह} said...

ओबामा ने इतने सब्जबाग दिखा दिए है अमेरिकियों को कि वह पूरे तो होंगे नही २० जनबरी के बाद हर दिन ओबामा कि लोकप्रियता कम होगी क्योंकि ऊठ पहाड़ के नीचे तभी आएगा . और एक बात ओबामा ने यह सब भारतीय नेताओं से ही सीखा है क्योंकि उनके सलाहकार भारतीय ज्यादा है .

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
There was an error in this gadget
There was an error in this gadget

अमर उजाला में लेख..

अमर उजाला में लेख..

हमारे ब्लाग का जिक्र रविश जी की ब्लाग वार्ता में

क्या बात है हुजूर!

Blog Archive