Thursday, April 1, 2010

बताइये, सानिया ब्याह रचाएंगी और परेशानी सारे लोगों को है...


बताइये, सानिया ब्याह रचाएंगी और परेशानी सारे लोगों को है। शोएब भाई साहब भी हंसते हुए शादी की बात स्वीकार करते हैं। लेकिन इसी के साथ बवाल खड़ा हो गया। बहस चल निकली। सानिया को लेकर सब परेशान हो गये। भाई, ये दो लोगों के बीच का मामला है। अब कानूनी लिहाज से आयशा के अब्बा उनसे निपटेंगे, लेकिन इस मामले को लेकर इतनी हाय-तौबा मीडिया में, यार कुछ समझ में नहीं आता। बहस पर बहस जारी है। सवाल ये है कि क्या सानिया मुसलिम समाज की उन हजारों लड़कियों का नेतृत्व करती हैं, जो कि अपनी जिंदगी को सही दिशा देने के लिए संघर्षरत है। हजारों लड़कियां अपने अब्बा से शिकायतें करती होंगी कि उन्हें किताबें नहीं मिल रहीं, उन्हें वह सब नहीं मिल रहा, जो उनके लिए जरूरी है। सानिया का मामला लगता है कि व्यक्तिगत न होकर दो देशों के बीच का मामला हो गया। हद है नौटंकी की। मीडिया लगता है सनक गयी है या उसे दर्शकों से कोई सरोकार नहीं है। सानिया कहां से खेलेंगी, सानिया कहां रहेंगी, ये ऐसे कौन से सवाल हैं, जो लोगों को प्रभावित करते हैं। सानिया एक तरह से कहें, तो एक ऐसे वर्ग से आती हैं, जहां शिक्षा और संपन्नता है। मुसलिम समाज की अस्सी फीसदी आबादी अभी भी ऊपर उठने के लिए संघर्षरत है। वैसे में सानिया, मीडिया के द्वारा बनाये गये चकाचौंध में जरूर रोल मॉडल लगती हैं, लेकिन ये वास्तविकता से उतना ही दूर है, जितना कि जमीन से आसमान। महिला मुक्केबाजी की महिला चैंपियन को शोहरत और अखबारों में जगह पाने के लिए रिरियाना पड़ता है, वहीं सानिया छा जाती हैं। सिर्फ इसलिए क्योंकि वह टेनिस से जुड़ी हैं। हॉकी में कई सानिया हैं, जिनकी ओर मीडिया का कोई आदमी घूमकर भी नहीं देखता। सानिया रोल मॉडल हैं, जरूर हैं, लेकिन उस चीज को मीडिया ने सिर्फ पब्लिसिटी के लिए इस्तेमाल किया है। अब सानिया की शादी को लेकर इतनी परेशानी। सानिया को लेकर आजमी साहब भी परेशान दिखे कि उन्होंने मां-बाप से अलग खुद की
मर्जी से शादी कर लिया। भाई, कोई सेलिब्रिटी अपनी निजी जिंदगी को नहीं जी सकता क्या? हम पूछते हैं कि अगर कोई सेलिब्रिटी, बुरे वक्त में फंस जाए, तो कोई मदद को आगे आएगा क्या? ये शुद्ध रूप से बाजार का मामला है। कहीं कोई नहीं पूछ रहा, तो सानिया के नाम पर स्टेटमेंट दे दो। हद है। हम तो कहेंगे कि आप इसे सानिया का महज निजी मामला रहने दें। इसे हवा क्यों दे रहे हैं। बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना।

3 comments:

वीनस केशरी said...

अजी इतना बवाल क्यों हो रहा है
हम तो यही देख कर हैरान है

Udan Tashtari said...

बेवजह परेशां रहने की आदत सी है कुछ लोगों को.

Anonymous said...

Sorry sir parasani ke baat to wo nahi hai jo aap dekh rahe hai ! sir je mera khahna ye hai ke india main koi mard nahi hai kaya jo saniya je pakistan ke ladke se sadi kar rahi hai,

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

अमर उजाला में लेख..

अमर उजाला में लेख..

हमारे ब्लाग का जिक्र रविश जी की ब्लाग वार्ता में

क्या बात है हुजूर!

Blog Archive