Friday, November 14, 2008

वोट करें, उसे जो उसके काबिल हो

चुनावी मौसम आ गया है। बहस, जिरह और तकॆ-वितकॆ का दौर चालू है। अमेरिका में भी चुनाव हुए। लेकिन अमेरिका और भारत में एक बड़ा अंतर साफ झलकता है। वहां बहस हुई देश को आथिॆक मंझधार से निकालने को लेकर। हमारे यहां बहस हो रही है आतंकवाद को लेकर। हिंदू और मुसलिम आतंकवाद। मराठी-बिहारी। मुद्दे जो रोजी-रोटी दिलायेंगे, गौण हो गये हैं। इन सबके बीच एक बात कहना चाहूंगा। अब जब आप वोट करिये, तो वोट करें उनको, जो सही मायने में इसके हकदार हों। जो भी सरकार बनती है,. वह आपकी ही प्रतिक्रिया का आईना होती है। एक बात हमेशा याद रखनी होगी कि ये सरकार ही आपके-हमारे भविष्य का निधाॆरण करती है। इसलिए अभी से चिंतन-मनन में जुट जाइये। और अंत में वोट उसे ही करिये, जो उसके काबिल हो।

1 comment:

Suresh Chandra Gupta said...

मुझे तो कोई काबिल नजर नहीं आ रहा. क्या करुँ? अगर वोट नहीं दूँगा तो चुनाव आयोग कहेगा मैं पप्पू हूँ.

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

अमर उजाला में लेख..

अमर उजाला में लेख..

हमारे ब्लाग का जिक्र रविश जी की ब्लाग वार्ता में

क्या बात है हुजूर!

Blog Archive