Saturday, February 7, 2009

सुना है क्रिकेट का बाजार सज गया है

सुना है क्रिकेट का बाजार सज गया है
मंदी का भूत डर के भाग गया है
एक खुशखबरी इसी हेडिंग से आयी थी
रामू काका ने खुश होकर ताली बजायी थी
अब तो वे हर बात पर सपने बुनने लगे
करोड़ों की बात करने लगे
अब देश नहीं, दल को सपोटॆ करने लगे
इंडिया नहीं
किसी और को जिताने को कहने लगे

हम तो भाई रामू काका को देख घबरा रहे हैं
आगे क्या होगा, ये सोच कर चकरा रहे हैं
क्या सचमुच मंदी का भूत भाग गया है
या बस पास की गली में कहीं छुप गया है

पर मामला साफ है
ये तो चेहरे पर छाया लिहाफ है
जल्दी ही टीवी का भूत उतर जायेगा
पेट का चूहा कूद कर सामने आयेगा
तब ये मंदी का भूत जिन्न बनकर डरायेगा

इसलिए बंधु ज्यादा क्रिकेट के बाजार को मत देखो
कुछ दुनिया, कुछ उसकी सोचो
क्योंकि बदलनी है दुनिया जल्दी
समय कम है और काफी है मंदी

थोड़ी मेहनत, थोड़ी जिद
थोड़ा धीरज, थोड़ा प्रेम
रखनी होगी कुछ तो शेम

अब यही बेड़ा पार करायेंगे
और राम से उस पार मिलायेंगे

No comments:

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
There was an error in this gadget
There was an error in this gadget

अमर उजाला में लेख..

अमर उजाला में लेख..

हमारे ब्लाग का जिक्र रविश जी की ब्लाग वार्ता में

क्या बात है हुजूर!

Blog Archive