Tuesday, July 29, 2008

घर लौट आया सुप्रतिम

आखिरकार सुप्रतिम घर लौट आया। रांची का रहनेवाला है वह। जिस जोश, हिम्मत और जज्बे से उसने मौत को शिकस्त दी, वह काबिलेतारीफ है। जिस किसी ने भी उसकी हालत देखी, वह दहल उठा था। लोगों की दुआओं के असर का ही नतीजा है, वह आज घर लौट आया है। सुप्रतिम ने रांची के संत जेवियर से पढ़ाई की है। सुप्रतिम ने हर उस व्यक्ति के हौसले को बुलंद किया है, जिसने किंन्ही कारणों से जीने की उम्मीद छोड़ दी है। हमें कोई मदद करे, ना करे, लेकिन सबसे पहले हम खुद की मदद तो कर सकते हैं। सचमुच, अगर खुद में हिम्मत है, तो खुदा भी मदद को तैयार हो जाता है।

सुप्रतिम को नये जीवन के लिए बधाई

No comments:

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

अमर उजाला में लेख..

अमर उजाला में लेख..

हमारे ब्लाग का जिक्र रविश जी की ब्लाग वार्ता में

क्या बात है हुजूर!

Blog Archive