Thursday, January 21, 2010

आपका इस बारे में क्या कहना है?

एक बहस ये है कि हम दर्शक कोई चैनल क्यों देखें? क्यों? ये सवाल है? कोई अखबार क्यों खरीदें? कुछ अनुभव को लेकर जहां तक हमारा मानना है कि वह ये है कि दर्शक या पाठक खबर चाहता है। हां, ये अलग बात है कि आप उसे तरीके से परोस कर दीजिए। लेकिन जिस दिन पाठक को लगने लगता है कि अमुक चैनल या अखबार खबर के लिहाज से बेहतर है, वह वही देखेगा।  


मैं एक आम दर्शक होकर क्या पसंद करूंगा?  
मेरा समय न जाया हो 
मुझे सूचनात्मक खबर ज्यादा मिले 
कम से कम समय में ज्यादा जानूं यही न!!  




आपका इस बारे में क्या कहना है?

1 comment:

अरूण साथी said...

हम तो ऐसी खबर चाहते है जनसरोकार सेर जुड़ी हो, आम आदमी की जिन्दगी, सरकारी जिम्मेवारी और नेताओं की बेईमानी उसका भाषण नहीं।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

अमर उजाला में लेख..

अमर उजाला में लेख..

हमारे ब्लाग का जिक्र रविश जी की ब्लाग वार्ता में

क्या बात है हुजूर!

Blog Archive